शिव मंदिर के अनोखे रहस्य

रहश्मय मंदिरोमे भगवान शिव का कैलाश मंदिर आता है !

भगवान शिव का कैलाश मंदिर महाराष्ट्र के एलोरा लेणी मै है यह लेणी औरंगाबाद मे है ! यही पर भगवान शिव का कैलाश मंदिर स्थित  है!

भगवान शिव का यह कैलाश मंदिर वैद्यानिको के लिये किसी चुनोती से कम नही !

यह मंदिर सनातन संस्कृती का अद्भुत रूप और नजारा है ! इस मंदिर कि रचना अद्भ्लुत है !

इसके आश्रय मे भक्त गणो को  शिव के अद्भुत  रूप का आभास होता है! इस मंदिर के बारे मे ऐसा कहा जाता है !

कि इस मंदिर का महत्व और गौरव  कैलाश पर्वत से कम नहीं है। इसी लिये  इसका आकारकुछ वैसा ही रखा गया है! जैसा कैलाश पर्वत का है !

 

 

भगवान शिव के कैलाश मंदिर का निर्माण !

राष्ट्रकुट राजा कृष्ण के समय मे हुआ है ! इस मंदिर पर लिखी हुये शब्द आज ताक कोई पढ नही पाया ! इस रहस्यमय भाषा के कारण इस मंदिर के बारे मे कई चमत्कारीक घटनाये बताई जाती है !

भगवान शिव के इस  मंदिर का निर्माण केवल एक बडे पत्थर  मे किया गया है ! इस कारण भी इसका अलग हि प्रभाव है !

मंदिर, स्तंभ, द्वार, नक्काशी आदि बनाए गए। पत्थरों की तलाश से। क्या शानदार डिजाइन और योजना है!

अन्यथा, वर्षा जल के भंडारण के लिए एक प्रणाली बनाना, पानी निकालने के लिए नालियां, मंदिर की मीनारें और पुल, सुंदर रूप से डिजाइन की गई बालकनियाँ, जटिल सीढ़ियाँ, गुप्त भूमिगत मार्ग आदि बनाना आम बात नहीं है।

 

 

यह मंदिर दो या तीन मंजिला इमारत है। इस मंदिर के निर्माण में प्रयुक्त चट्टान का वजन लगभग 40,000 टन बताया जाता है।

यह मंदिर भगवान शिव को अर्पित  है। ऐसा माना जाता है कि यहां आने वाले भक्त को कैलाश पर्वत पर जाने के समान आराधना करते  मिलता है। इसलिए जो लोग कैलाश नहीं जा सकते उन्हें यहां दर्शन के लिए आना चाहिए!

भगवान शिव का यह मन्दिर जगप्रसिद्ध है !

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.